Abhi Bharat

नालंदा : जज मानवेंद्र मिश्र ने अनाथ बच्चों की थाली में खाना परोस बांटी दीपावली की खुशियां

नालंदा में बिहारशरीफ किशोर न्याय परिषद के न्यायधीश मानवेंद्र मिश्र ने दीपावली के मौके पर नईसराय स्थित बाल गृह पहुंच बच्चों के बीच खाना परोस तथा फुलझड़ी देकर अपनी जिंदगी के प्यार की खुशियां बांटी. अनाथ आश्रम में रह रहे बच्चे जो वे अपने पूर्व जन्म के संचित कर्मों के अनुसार उन्हें भले ही माता-पिता का प्यार नहीं मिल पा रहा हो, लेकिन उत्साह प्रेम और दीपों का पर्व दीपावली के पूर्व जब उन्हें क्षणिक सुख के लिए जज मानवेंद्र मिश्र के हाथो मिठाई खाकर मां की ममता और पिता के प्यार का एहसास हुआ तो बच्चे काफी उत्साहित दिखे.

वैसे बच्चे जिनके सर पर न मां का आंचल है ना पिता का साया वैसे बच्चे जिन्हें अपने जन्म के बारे में मालूम नहीं कि आखिर उनका जन्म कब हुआ. उन अनाथ बच्चों के बीच जब खुशियां ले कर जज मानवेंद्र मिश्र पहुंचे तो अनाथ बच्चे काफी उत्साहित दिखे. किशोर न्याय परिषद के न्यायधीश मानवेंद्र मिश्र अपने हाथों से थाली में खाना परोस और फूलझड़ी दिया तो उन्हें मां पिता सा प्यार पा बच्चे काफी खुश दिखे. वहीं इस मौके पर जज मानवेंद्र मिश्र ने कहा कि बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास के लिए इस बार दीपावली को लेकर किशोर न्याय परिषद के द्वारा निर्णय लिया गया. बच्चे अपने आपको पर्व त्यौहार पर मरहूम नहीं समझे और इनके हौसले को बुलंद रखने के लिए दीपावली अनाथ बच्चों के संग मनाई गई और इनके बीच दीपावली की खुशियां बांटी गई. किशोर न्याय परिषद नालंदा तथा जिला बाल संरक्षण इकाई के द्वारा इन अनाथ बच्चों के विकास के लिए कई ऐसे कार्यक्रम किए जाते हैं ताकि इन बच्चों को अपने आपको अपनों से दूरी ना बुझाए.

बताते चलें कि  जज मानवेंद्र मिश्र  किशोर अपराध के मामले में कई अनोखी और चर्चित फैसले  सुना चुके हैं और किशोर अभियुक्तों को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने तथा उन्हें सामाजिकता और  समाज की उस हकीकत को पहचानने का मौका भी दिया है, ताकि किशोर समाज की मुख्यधारा से जुड़ कर स्वावलंबी बनकर खुद को एक बेहतर नागरिक बना सके और कुछ इसी तरह समाज सेवा के भाव से समाज में आगे बढ़ता रहे. (प्रणय राज की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.