Abhi Bharat

चाईबासा : कोल हो समाज हायम सनागोम सोसाईटी पश्चिम बंगाल के द्वारा लाको बोदरा जोनोम दिलंग कार्यक्रम आयोजित

चाईबासा में गोलग्राम ऑडोटोरियम हाॅल, पश्चिम बंगाल में कोल हो समाज हायम सनागोम सोसाईटी पश्चिम बंगाल के द्वारा लाको बोदरा जोनोम दिलंग कार्यक्रम (लाको बोदरा जयंती) का आयोजन हुआ. जिसमें बतौर मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा एवं सांसद सह झारखण्ड प्रदेश कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा ने शिरकत किया.

कार्यक्रम में समिति के सदस्यों ने पारंपरिक रूप से अतिथियों का स्वागत किया. वहीं कार्यक्रम में संबोधित करते हुए सांसद गीता कोड़ा ने कहा समाज के सहयोग के लिए हम सदैव तैयार हैं. पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने कहा जिस समाज का लिपि, भाषा, साहित्य जिंदा रहेगा वही समाज जिंदा रहेगा, इसलिए हमें अपने भाषा, लिपि, साहित्य को आगे बढ़ाने के लिए हमेशा प्रयासरत रहना होगा. पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने कार्यक्रम के माध्यम से हो समाज के विकास के लिए पश्चिम बंगाल सरकार से गुजारिश की कहा सरकार को हो समाज के लोगों के खतियान के विशंगति को दूर किया जाना चाहिए, टीएससी में कम से कम एक हो समाज के प्रतिनिधि को जगह दिया जाना चाहिए, ताकी हो समाज का प्रतिनिधित्व हो सके, हो भाषा को आठवीं अनुसूची में शामिल के लिए राज्य सरकार की ओर से पूरा सहयोग मिले.

कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा एवं सांसद सह झारखण्ड प्रदेश कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष गीता कोड़ा ने कार्तिक बहान्दा द्वारा लिखित रुमुल किताब का विमोचन किया. कार्तिक बहान्दा एवं उनके ग्रुप ने पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा एवं सांसद गीता कोड़ा के सम्मान में उनके नाम से एक हो गीत सुनाया. कार्यक्रम के समापन में पूर्व मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने मांदल बजाया एवं सांसद गीता कोड़ा ने पारंपरिक संस्कृतिक नृत्य में भाग लेते हुए हो समाज के संस्कृति को दर्शाया. (संतोष वर्मा की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.