Abhi Bharat

सीवान : दयानंद आयुर्वेदिक कॉलेज में कैंसर से बचाव विषय पर शिविर का आयोजन

सीवान में शुक्रवार को दयानंद आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के कॉलेज परिसर में गुलमोहर मैत्री संस्थान पटना के द्वारा एशियन मेडिकल साइंस और रुबन हॉस्पिटल के सहयोग से कैंसर से बचाव विषय पर शिविर का आयोजन किया गया. जिसमें महिलाओं की मुफ्त मेमो ग्राफी, पेप स्मीयर, गर्भाशय कैंसर से बचाव के लिए टीकाकरण किया गया.

इस अवसर पर एक सभा का आयोजन किया गया, जिसमे मुख्य अतिथि बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, विशिष्ट अतिथि मेजर जनरल इंद्रपाल, गुलमोहर मैत्री संस्थान की सचिव मंजू सिंहा, गोरिया कोठी विधायक देवेश कांत सिंह, दारौंदा विधायक कर्णजीत सिंह, आयुर्वेद महाविद्यालय के प्राचार्य प्रोफ़ेसर डॉ प्रजापति त्रिपाठी दयानंद आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज के सचिव एवं भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ संजय पांडेय मंचासीन हुए. अपने संबोधन में सभी ने कैंसर से बचाव के लिए गुलमोहर मैत्री की सचिव मंजू सिंहा द्वारा चलाई जा रहे प्रोग्राम की भूरी भूरी प्रशंसा की.

मेजर जनरल इंद्र बालन ने इस केम्प में आए एनसीसी के मेडिकल छात्रों को बधाई दिया. सभा को संबोधित करते हुए स्वस्थ मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि आज कैंसर एक गंभीर बीमारी का रूप ले चुका है, आज हम लोग यहां तीन काम के लिए इकट्ठा हुए हैं. पहला काम है कैंसर के प्रति जागरुकता पैदा करना यानी कि समाज को बताना चाहिए कि कैंसर की जांच हमें कराना चाहिए, यदि कैंसर की कोई भी लक्षण पता चलता है तो नजदीक के सेंटर पर जाके जांच जरूर कराना चाहिए, क्योंकि कैंसर का पता जितनी जल्दी चल जाता है तो इलाज भी जल्दी शुरू हो जाता है. जिससे व्यक्ति की बचने की संभावना बहुत अधिक हो जाती है. इसलिए मैं उपस्थित लोगों से कहूंगा कि कैंसर से डरना नहीं लड़ना है. यदि हम कैंसर से लड़ेंगे तो हम अपने परिवार की रक्षा कर पाएंगे. आज के कार्यक्रम की उपलब्धि यही होगी.

सभी लोग सीवान जिले में इस लड़ाई के लिए एक माहौल बनाए कि कैंसर से डरना नहीं लड़ना है. दूसरा जो इस कार्यक्रम का मकसद है यदि किसी को कैंसर है या नहीं भी है इसकी जांच कराएं यह शिविर चल रहा है. इस शिविर में आएं और जांच कराएं. इसी में एशियन हॉस्पिटल के तरफ से जो गाड़ी आई है, इस गाड़ी में विशेष मशीनें लगी है, जिससे ब्रेस्ट कैंसर और पेपस्मीयर जांच करने की विशेषता है, जो निशुल्क है. इस गाड़ी को भेजने के लिए यहां उपस्थित डॉ मृत्युंजय के द्वारा एशियन हॉस्पिटल के मालीक डॉ नरेंद्र पांडे को धन्यवाद देता हूं. उसी प्रकार गर्भाशय कैंसर की जो बीमारी आजकल आम हो चुकी है, इससे बचने के लिए टिका भी लगाया जा रहा है, जो कि लगभग 4000 रुपए करीब का एक मिलता है और एक बच्ची को छः महीने की अंतराल पर दो बार दिया जाता है, वह भी यहां संस्था के द्वारा चयनित जिले की 75 बच्चियों को मुफ्त लगाया जा रहा है.

यह टीका सभी लोग नहीं लगा पाते इसके लिए रुबन हॉस्पिटल के डॉटर सत्यजीत को धन्यवाद देता हूं, इन्होंने एक्सपर्ट की टीम यहां भेजी है. इस कार्यक्रम में आईएमए के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ सहजानंद, बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी, डॉ सीपी ठाकुर जैसे लोग गुलमोहर मैत्री संस्थान से जुड़कर सेवा भाव से कार्य कर रहे हैं. मैं आज सीवान जिले के डॉक्टर से यह अपील करता हूं कि वह इस कार्य से जुड़े. मैं बताना चाहता हूं बिहार सरकार कैंसर के इलाज के लिए केंद्र के सहयोग से एसकेएनएमसीएच में 300 करोड़ के लागत से कैंसर अस्पताल बनाने जा रही है. जिसमें टेक्निकल सपोर्ट टाटा कैंसर अस्पताल देगाऔर साथ ही 14 जिलों में प्रोग्राम चला भी रही है. साथ में इसके इलाज के क्रम में कीमोथेरेपी की प्रक्रिया जो होती है, वह भी हम जिला अस्पताल में शुरु करने जा रहे हैं. (अभिषेक श्रीवास्तव की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.