Abhi Bharat

सीवान : बड़हरिया में शिव परिवार सह विश्वकर्मा प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ के दूसरे दिन श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

सीवान में बड़हरिया प्रखंड मुख्यालय के बड़हरिया पुरानी बाजार में चल रहे पांच दिवसीय विश्वकर्मा प्राण प्रतिष्ठा महायज्ञ के दूसरे दिन महायज्ञ में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी. सुबह से ही श्रद्धालुओं महिला-पुरुष यज्ञ मंडप की परिक्रमा में जुटने लगे.

बता दें कि यज्ञाचार्य अभिजीत तिवारी के वैदिक मंत्रोचार से पुरानी बाजार का पूरा वातावरण भक्तिमय बना हुआ है. वहीं प्रतिदिन की भांति संध्या 7:30 बजे से धर्मगुरु परम पूजनीय अरुष जी महाराज के मुखारविंद से अमृत वर्षा कर श्रद्धालुओं को भक्ति के सागर में डूबो रहे हैं. महायज्ञ के दूसरे दिन धर्मगुरु परम पूजनीय आरुष जी महाराज ने गुरु महिमा का वर्णन करते हुए गुरु दीक्षा की महता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि जिस दिन गुरु से दीक्षा ली जाती है उसी दिन से मनुष्य का नवजीवन शुरू होता है. गु माने अंधकार और रू माने प्रकाश, जो अज्ञान रूपी अंधकार को हटाकर ज्ञान रूपी प्रकाश प्रकट कर दे उन्हें गुरु कहा जाता है. गुरु के बिना कोई भी इस संसार सागर को पार नहीं कर सकता, फिर भले वह ब्रह्मा-विष्णु-महेश ही क्यों ना हो. उन्होंने कहा कि अध्यात्मिक गुरु वे होते हैं जो व्यक्ति को इस संसार के सुख-दुःख, हानि-लाभ तथा कर्मों के तूफान से बाहर निकाल कर सुख-शांति-संतोष तथा अपने आत्मा में स्थिर होना सिखाते हैं और दुनियावी कुचक्र से मुक्त कर देते हैं. इसलिए गुरु के बताए मार्ग पर चलने से मनुष्य के हर कार्य सफल होता है.

मौके पर मठाधीश श्री भगवान दास जी महाराज, पूजा समिति के अध्यक्ष रघुनाथ शर्मा, तारकेश्वर शर्मा, दामोदर जयसवाल, प्रेम प्रकाश सोनी, किशोर श्रीवास्तव, परमेश्वर शर्मा, अरविंद श्रीवास्तव, राजेश पटेल, केसर श्रीवास्तव, रंजन सिंह, भारद्वाज कुशवाहा, शंकर जी सोनी, जितेंद्र प्रसाद आदि शामिल थे. (राकेश रंजन गिरी की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.