Abhi Bharat

नालंदा : विश्व पोलियो दिवस के अवसर पर रोटरी तथागत द्वारा निकाली गयी जागरूकता रैली

नालंदा में रविवार को विश्व पोलियो दिवस के मौके पर रोटरी तथागत के सदस्यों द्वारा आइएमए भवन से होते हुए अस्पताल चौराहा तक जागरूकता रैली निकाली गयी. रैली में शहर के प्रतिष्ठित डाक्टर्स के अलावे सैकड़ों लोगों ने हिस्सेदारी की.

बता दें कि विश्व पोलियो दिवस रोटरी क्लब के द्वारा ही एक दशक पहले पोलियो टीकाकरण के जनक जोनस साक की जयंती के अवसर पर मनाना शुरू किया था, जिसका उद्देश्य था की इस दिन सभी प्रण लें कि विश्व को पोलियो मुक्त जल्द करेंगे और आगे भी इसके लिए काम करते रहेंगे. इस रैली में रोटरी तथागत के सदस्यों के अलावे इनर व्हिल क्लब, रोट्रैक्ट क्लब, इंट्रैक्ट क्लब, मोर्निंग वॉक, सहेली सेंटर के सदस्यों ने भी भाग लिया.

इस बारे में प्रोजेक्ट चेयरमैन परमेश्वर महतो ने कहा की रोटरी ने पोलियो उन्मूलन में पूरे विश्व में बेहतरीन योगदान दिया है और हमारा क्लब भी इस जिला को पोलिओ मुक्त करने में प्रशासन के साथ लगातार काम करते रहा है. प्रसिद्ध चिकित्सक डॉ अरविंद कुमार सिन्हा ने कहा की भारत के लिए पोलियो एक श्राप था, इससे सबसे ज़्यादा प्रभावित बच्चे होते थे. इसलिए पूरे समाज के लिए यह चिंतनीय था. रोटरी ने समाज के साथ मिलकर इस पर लगातार काम किया जिसका नतीजा है की विश्व आज 99.9 प्रतिशत पोलियो मुक्त हो चुका है. डॉ सुनील कुमार ने कहा की हालांकि भारत 2014 में पोलियो से मुक्त हो चुका है. लेकिन, इसे स्थायी बनाने के लिए हमलोगों को सचेत रहने की आवश्यकता है और इसलिए आज के दिन रोटरी तथागत ने इस रैली के माध्यम से समाज में संदेश देने का प्रयास कर रही है की आगे चुनौती बरकरार है.

रोटरी तथागत के अध्यक्ष अशोक कुमार ने कहा की पोलियो उन्मूलन का कार्यक्रम हमारे दिल से जुड़ा है, क्योंकि रोटरी पिछले 40 सालों से इस अभियान में लगी है. आगे भी भारत पोलियो मुक्त रहे इसके लिए हमलोग अपना प्रयास जारी रखेंगे. क्लब सचिव जोसेफ टीटी ने कहा की यह सही है की विश्व में अब केवल पाकिस्तान और अफगानीस्तान से ही पोलिओ के मामले आ रहे हैं. लेकिन, यहां तक पहुंचने के लिए रोटरी ने विश्व भर में अथक प्रयास किया है. इस तरह की महामारी से मुक्ति पाने के लिए सरकार के प्रयास के साथ साथ पूरे समाज को प्रयास करना पड़ता है. इसलिए आज के रैली से हम लोगों को फिर से यह संदेश देना चाहते हैं कि कोरोना हो या पोलियो अब भी हमें सतर्क रहने की आवश्यकता है. (प्रणय राज की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.