Abhi Bharat

छपरा : मेरी पंचायत मेरा अधिकार-जन सेवाएं हमारे द्वार अभियान में स्वास्थ्य सेवाओं को किया जाएगा समाहित, पंचायत प्रतिनिधियों के साथ मिलकर आशा व एएनएम देगी स्वास्थ सेवाओं की जानकारी

छपरा जिले में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत जिले के ग्राम वासियों विशेषकर गरीब निर्धन जन समुदाय स्वास्थ्य सेवाओं से वंचित समुदाय को सुलभ, प्रभावी एवं गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न कार्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं. समय-समय पर ग्रामीण स्तर पर स्वास्थ्य संबंधित सेवाओं का समुदायीकरण समुदाय द्वारा समुचित उपयोग किये जाने को पंचायती राज विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर स्वास्थ्य सेवाओं का कियान्वयन किया जाता है. इसी कड़ी में पंचायती राज विभाग के द्वारा जिले में 01 जुलाई से 15 अगस्त तक “मेरी पंचायत मेरा अधिकार-जन सेवाएं हमारे द्वार” अभियान का संचालन किया जा रहा है. इस अभियान में स्वास्थ्य सेवाओं को भी समाहित किया जायेगा. इसको लेकर राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार ने पत्र जारी कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिया है.

आदर्श पंचायत नागरिक चार्टर में स्वास्थ्य सेवाओं को किया जायेगा समाहित :

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा पंचायती राज मंत्रालय से प्राप्त निर्देश के आलोक में पंचायती राज विभाग द्वारा ग्राम पंचायत स्तर पर 01 जुलाई से 15 अगस्त 2021 तक मेरी पंचायत मेरा अधिकार जन सेवायें हमारे द्वार अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत राज्य के प्रत्येक पंचायत में “आदर्श पंचायत नागरिक चार्टर” को तैयार किये जाने के लिए एक विशेष ग्राम सभा की बैठक किया जाना प्रस्तावित है. ग्राम सभा की बैठक में संबंधित क्षेत्र की आशा कार्यकर्ता द्वारा अपने क्षेत्रीय एएनएम की सलाह से पंचायत प्रतिनिधि के साथ मिलकर स्वास्थ्य संबंधित योजनान्तर्गत दी जाने वाली सेवाओं को “आदर्श पंचायत नागरिक चार्टर” में समाहित किया जाएगा. इसका उद्देश्य कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण उत्पन्न चुनौती के साथ-साथ संबंधित क्षेत्र के स्वास्थ्य समस्या को दी जाने वाली सेवाएं को आम जनमानस के घर तक पहुंचाना है.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी पंचायती राज विभाग से समन्वय स्थापित कर करेंगे कार्य :

जारी पत्र में कहा गया है कि इस अभियान का नोडल विभाग पंचायती राज विभाग है तथा उपरोक्त गतिविधियों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा पंचायती राज विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर क्रियान्वित किया जायेगा. जिला स्तर पर इस कार्यक्रम के नोडल पदाधिकारी जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी होंगे, तथा जिला सामुदायिक उत्प्रेरक कार्यक्रम के क्रियान्वयन में जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी को आवश्यक सहायता प्रदान करेंगे. उपरोक्त दोनों पदाधिकारियों को जिला पंचायती राज पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर “आदर्श पंचायत नागरिक चार्टर” संबंधित किये जाने वाले कार्य को क्रियान्वित कराया जाए.

आशा व एएनएम की भी भूमिका होगी महत्वपूर्ण :

इस अभियान में प्रखंड स्तर पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक द्वारा प्रखंड के पंचायती राज पदाधिकारी कर्मियों के साथ समन्वय स्थापित कर स्वास्थ्य सेवाओं के अंतर्गत दी जाने वाली सेवाओं को “मेरी पंचायत मेरा अधिकार जन सेवायें हमारे द्वार” अभियान अन्तर्गत ग्राम सभा में तैयार की जाने वाली “आदर्श पंचायत नागरिक चार्टर” में आशा, एएनएम पंचायत सदस्य इत्यादि की मदद से समाहित कराना सुनिश्चित करेंगे. (सेंट्रल डेस्क).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.