Abhi Bharat

सीवान : तितिर स्तूप पर विश्व कल्याण की कामना के साथ की गई भगवान बुद्ध की पूजा अर्चना

सीवान जिले के जीरादेई प्रखण्ड क्षेत्र के तितिर स्तूप के पास स्थित बुद्ध मंदिर परिसर में सोमवार को बुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर भगवान बुद्ध की पूजा अर्चना कर विश्व कल्याण के लिए प्रार्थना की गई.

इस अवसर पर प्रधानाचार्य कृष्ण कुमार सिंह ने भगवान बुद्ध के जीवन दर्शन पर बोलते हुए कहा कि बुद्ध मानव सभ्यता के इतिहास में मील के पत्थर हैं. उन्होंने कहा कि बुद्ध दार्शनिक नहीं, दृष्टा थे। क्योंकि दार्शनिक सोचता है, दृष्टा देखता है ,बुद्ध ने कभी सोचा नहीं, सिर्फ देखा. उन्होंने बताया कि भगवान बुद्ध परम्परावादी नहीं, मौलिक हैं, बुद्ध कहते हैं, किसी को मत मानो, केवल अपने अंदर देखो, इससे ही तुम्हें परम ज्ञान प्राप्त हो जायेगा. उन्होंने कहा कि बुद्ध ने किसी की आलोचना नहीं की, ईश्वर व आत्मा को नकारा नहीं केवल बस इतना कहा कि इन बातों पर व्यर्थ बहस नहीं कर, ध्यान करें. उन्होंने आगे बताया कि सीवान जिला के जीरादेई प्रखण्ड के तीतिरा टोले बंगरा में स्थित तितिर स्तूप का परीक्षण उत्खनन भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण, पटना अंचल के सहायक पुरातत्वविद शंकर शर्मा के नेतृत्व में 20, जनवरी 2018 से 20, फरवरी 2018 तक कराया गया, जिसमें प्रचुर मात्रा में पुरातात्विक साक्ष्य मिला. जैसे एंबीपीडब्ब्ल्यू ,धूसर मृद्भांड, टेराकोटा की दर्जनों मुर्तिया, स्टाम्प, टेराकोटा के खिलौने, धूपदानी, चीलम, पीली मिट्टी से बना छोटा स्तूप जैसा आवरण, शीशा की गोली, छोटा शिलालेख (जिस पर किसी लिपि में कुछ अंकित है) मौर्य कालीन ईंट से निर्मित पीलर साथ ही अन्वेषण के क्रम में मौर्य, कुषाण व गुप्तकाल के मिश्रित ईंटों से निर्मित भवनावशेष तथा दो सौ फीट लम्बी दीवार की नींव तथा 30 फीट लम्बी चार फीट चौड़ा दीवाल का अवशेष मिला.

कार्यक्रम के दौरान बौद्ध दर्शन को आत्मसात कर बेहतर भारत बनाने का संकल्प लिया गया. इस मौके पर युवा चित्रकार रजनीश कुमार मौर्य, पटना के चित्रकार अविनाश कुमार, गोपालगंज के लोकपाल प्रशांत कुमार, राष्ट्रसृजन अभियान के राष्ट्रीय महा सचिव ललितेश्वर कुमार, रामदेव विचार मंच के संस्थापक अभिषेक कुमार सिंह, स्थानीय मुखिया नूरनबाब अंसारी, सरपंच चुन्नू सिंह, प्रमोद शर्मा, माधव शर्मा, हरिशंकर चौहान, बलिंद्र सिंह, आयुष दुबे, डॉ सुजीत सिंह, देवरिया से रविभूषण दूबे, निशांत पांडेय, हरिकांत सिंह, अंकित मिश्र, नितेश कुमार सिंह अंकित सिंह, अशोक सिंह, धुरेन्द्र राम, सीता राम हरिजन एवं काफी संख्या में छात्र एवं छात्राएं उपस्थित थे. (अभिषेक श्रीवास्तव की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.