Abhi Bharat

कैमूर : भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले की मनी जयंती

कैमूर जिला के भभुआ स्थित बुद्ध हॉस्टल मां मुंडेश्वरी सेंट्रल स्कूल में भारत की प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले की जयंती मनाई गई. स्कूल के टीचर और छात्र-छात्राओं ने उनके तैल चित्र पर फूल चढा कर उनके विचारों पर चर्चा किया.

वहीं विद्यालय के निदेशक कुमार महेंद्र प्रताप ने बच्चों को उनके जीवनी के बारे में बताते हुए कहा कि उनका जन्म 3 जनवरी 1837 को हुआ था एवं उनकी मृत्यु 10 मार्च 18 97 को प्लेग के कारण हो गई. विद्यालय के प्रधानाचार्य दयानंद पांडेय ने बच्चों को बताया कि उनके द्वारा 1852 ईसवी में भारत के प्रथम बालिका विद्यालय की स्थापना की गई. जिसके कारण महिलाओं और बच्चियों को शिक्षा प्राप्त होने लगी. स्कूल की टीचर मनोरमा कुमारी ने बच्चों को बताया कि छुआछूत मिटाने विधवा विवाह और बच्चियों के लिए शिक्षा पर इन्होंने बहुत जोर दिया.

मौके पर शिक्षक हेमंत मौर्य, विनय कुमार यादव, राम कृपाल सिंह, निशा कुमारी, रेखा कुमारी, योगेश मौर्य एवं विमलेश कुमार यादव आदि के द्वारा सावित्रीबाई फुले की जीवनी पर प्रकाश डाला गया. विद्यालय के कुछ बच्चे अमन अवस्थी, पंकज गुप्ता, अंकिता कुमारी व परी कुमारी ने भाग लिया. (विशाल कुमार की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.