Abhi Bharat

सीवान : डॉक्टर श्वेता रानी की क्लिनिक में जच्चा-बच्चा की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

सीवान में सोमवार को एक निजी क्लिनिक में जच्चा-बच्चा की मौत के बाद परिजनों द्वारा जमकर हंगामा मचाया गया. घटना शहर के महादेवा ओपी थाना क्षेत्र के पकड़ी मोड़ के समीप डॉक्टर श्वेता रानी के निजी क्लीनिक की है, जहां प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हो गई. इसके बाद डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए आक्रोशित परिजनों ने क्लीनिक के बाहर जमकर बवाल काटा. मृतका की पहचान गुठनी थाना क्षेत्र के तीर बलुआ गांव निवासी धन्नू साहनी के 30 वर्षीय पत्नी मैना देवी के रूप में हुई.

घटना के संबंध में मृतका के परिजनों ने बताया कि महिला को डिलीवरी होने वाला था जिसके बाद उसका पेट दर्द शुरू हो गया. जिसके बाद महादेवा ओपी के पकड़ी मोड़ की रहने वाली चर्चित डॉक्टर श्वेता रानी के पास फोन करने पर उन्होंने पीड़िता को यथाशीघ्र क्लीनिक लेकर पहुंचने की बात कही थी. जिसके बाद परिजन पहुंचे तो डॉक्टरों ने उन्हें भर्ती कर लिया. उसके थोड़े देर के बाद चिकित्सक बाहर आए और बोले कि बच्चा की मृत्यु हो गई है जबकि जच्चा को बचाने के लिए ऑपरेशन करना पड़ेगा. इसके बाद परिजन राजी हो गए. लेकिन, थोड़ी देर के बाद ही क्लीनिक के स्टाफ महिला को स्ट्रेचर पर लिटा कर बाहर निकाले. जिसके बाद परिजनों ने देखा तो उनके होश उड़ गए. इसके बावजूद भी क्लीनिक के स्टाफ मृतका के शव को परिजन को नहीं सौंपा और सीधे सीवान सदर अस्पताल लेकर पहुंच गए. जिसके बाद परिजनों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया. परिजनों का कहना है कि पेट में बच्चे की मृत्यु होने के बाद चिकित्सक सिजेरियन कर रहे थे, जिसके बाद महिला की भी मृत्यु हो गई.

इधर, एक साथ जच्चा बच्चा के मृत्यु के बाद परिजन आग बबूला हो उठे और जमकर चिकित्सा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया. परिजनों ने बताया कि इससे पूर्व भी महिला के डिलीवरी के दौरान दो बच्चों की मृत्यु हो चुकी है. यह तीसरा बच्चा था. वहीं विरोध प्रदर्शन की जानकारी के बाद मौके पर पहुंची महादेवा ओपी थाने की पुलिस ने पीड़ित परिजनों को घंटों समझा-बुझाकर शांत कराया. फिलहाल, मृतका के शव को पुलिस अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराने में जुट गई है. (समरेंद्र कुमार ओझा की रिपोर्ट).

You might also like

Leave A Reply

Your email address will not be published.